Personal devlopment, Success

Top 10 Useful Tips for Time Management in hindi.

कैसे करे दिन के एक-एक second का सदुपयोग               दोस्तों आज के इस भाग दौड़ की जिंदगी में सबसे ज्यादा Problem Time की है | आज इंस...


कैसे करे दिन के एक-एक second का सदुपयोग
              दोस्तों आज के इस भाग दौड़ की जिंदगी में सबसे ज्यादा Problem Time की है |आज इंसान के पास सब कुछ है अगर कुछ नही है, तो वो है टाइम | किसी भी इंसान से कोई काम करने को कहो तो सिर्फ एक जवाब मिलता है, यार मेरे पास time नही है | दोस्तों आखिर ऐसा क्यों है | क्योकि हमारा Time management सही नही है |  हमारे पूर्वजों को कभी time की Problem नही हुई | जब की उनके पास भी 24 घंटे ही हुआ करते थे | और उनके पास तो कोई साधन और टेक्नोलॉजी भी नही था | आज इस टेक्नोलॉजी के युग में भी 24 घंटे ही है | लेकिन इतना संसाधन होने के बावजूद भी time की समस्या क्यों बनी हुई है | दोस्तों कुछ तो गड़बड़ है ? क्या गड़बड़ है आइये देखते है -  


एक बात तो आप भी मानेंगे कि, ईश्वर ने किसी को सुंदरता ज्यादा दी तो किसी को कम दी | किसी को दौलत ज्यादा दी, तो किसी को कम | लेकिन विधाता ने समय सभी को बराबर दिया है : एक दिन में 24 घंटे |
इसके बावजूद भी 3 Important सवाल जो Time को लेकर उठते है | जो की इंसान के सफलता में सबसे बड़ा Role Play करता है | दोस्तों यदि आपने अपने आपसे नीचे दिए गए 3 सवाल के जवाब पूछा और पूरी इमानदारी से अपने आपको इसका जवाब दे दिया तो आपको सफल होने से दुनिया की कोई ताकत नही रोक सकती |
1st Important Question :- आपको समय की इतनी कमी क्यों महसूस होती है ?
2st Important Question :- आपके जीवन में दरअसल कितना टाइम बचा है ?
3st Important Question:- आपका समय कितना कीमती है ?
          [“कई बार सवाल जवाबों से ज्यादा महत्वपूर्ण होते है” ]

  दोस्तों आइये सबसे पहले हमलोग उपर लिखे तीनो Question के बारे में Discuss करते है, क्योकि यही तीनो सवाल पर आपकी सफलता निर्भर करती है | इसके बाद हम आपको बताएँगे कि आपके पास time न होते हुए भी टाइम कैसे निकलना है |

 Qus. 1= आपको समय की इतनी कमी महसूस क्यों होती है ?:- 
             दोस्तों पहले हमारा जीवन बहुत ही easy था, लेकिन अब इतना coplecated हो गया है की आज हमारे पास अपने लिए ही Time नही है | आखिर ऐसा क्यों ? और यही समस्या का मूल कारण है | पहले जीवन की रफ़्तार धीमी थी, लेकिन आज कुछ ज्यादा ही तेज हो गयी है | अब हमारे जीवन में internet आ गया है, जो पलक झपकते ही हमें पूरी दुनिया से जोड़ देता है | T.V.आ चुका है जिसका बटन दबाते ही हम दुनिया की हर खबर देख लेते है | इसके अलावा हमारे पास कार, ट्रेन, हवाई जहाज़, जिसके द्वारा हम तेजी से कही भी पहुच सकते है | यहाँ तक कि अब हमारे पास 4G Mobiles है जिसके द्वारा हम कही भी Live बाते कर सकते है और जिससे बात कर रहे है उसे देख भी सकते है | दोस्तों इन सभी के बदौलत आज दुनिया हमारी मुटठी में है, लेकिन आज हम खुद से और अपनों से दूर होते जा रहे है | जो कि सही नही है |
     यदि हम Time को लेकर वास्तव में गंभीर है, तो इसका बहुत ही आसान सा तरीका है, कि हम इन संसाधनों से मुक्ति पा ले | और अपने जीवन शैली को थोड़ा सा पीछे ले जाए | मुक्ति पा लेने का मतलब ये नही है, कि हमें दुबारा ललितपुर  से बनारस पैदल चलना शुरू कर देना चाहिए या चूल्हे पर रोटी सेकनी शुरू कर देनी चाहिए | मेरा तो सिर्फ इतना कहना है कि हमें internet, whatsapp, T.V., chatting , और मोबाइल जैसी चीजो पर time देना कम कर देना चाहिए |
दोस्तों अगर आप serious होकर सोचो तो समझ में आ जाएगा की आज के समय में हमारा  ज्यादातर Time social sites पर बर्बाद होता है | मित्रो यदि आप real में समय की समस्या को solve करना चाहते है, तो आपको अपनी Lfe style बदलनी पड़ेगी | यदि हम अपने समय को सही Manage कर ले तो हमारा जीवन बदल जायेगा | और जो इंसान अपना Time manage नही कर सकता वो किसी भी चीज को manage नही कर सकता |
दोस्तों दुसरा और बहुत ही Important Question है कि:-
Qus. 2:- आपके जीवन में कितना टाइम बचा है ?:-
            जैसा की हमने ऊपर भी लिखा है की ऊपरवाले ने किसी को ज्यादा सुन्दर बनाया है तो किसी को कम | किसी को ज्यादा दौलत दिया है तो किसी को कम | लेकिन उपरवाले ने समय सभी को बराबर दिया है | एक दिन के 24 घंटे | दोस्तों ध्यान देने वाली बात तो ये है की कहने को हम सभी के पास 24 घंटे है, लेकिन वास्तव में हमारे हाथ में कितना टाइम है | सच तो यह है दोस्तों, इस 24 घंटे के बहुत बडे हिस्से पर हमारा कोई नियंत्रण नही होता है | उदाहरण के तौर पर आप देखे- लगभग 7 से 8 घंटे सोने में निकल जाता है, लगभग 2 से 3 घंटे खाने-पिने, नहाने या नित्य कर्म करने में निकल जाता है | यानी की अब हमारे पास लगभग 13 से 14 घंटे ही बचे | अगर normally  माने तो लगभग दिन के 50% टाइम पर हमारा कोई नियंत्रण नही है | यदि हम अपने जीवन की आयु 100 वर्ष मान ले जिसमे से आधी जिन्दगी सोने में निकल जाती है, बची आधी में से आधी बाल्यावस्था और वृधावस्था में गुजर जाती है | अब बची 25 वर्षों में इंसान को बिमारी, दुःख-दर्द , नौकरी, चाकरी भी करनी पड़ती है |
         सही माने तो Time ही संसार में सबसे Limited और रुकने वाली चीज नही है | किसी ने सही कहा है, “यदि आप दौलत गवां देते है, तो दुबारा कमा सकते है | घर गवा देते है, तो दुबारा बनवा लेंगे | लेकिन अगर समय गंवा देते है तो दुबारा नही मिल सकता |” दोस्तों हमारा जीवन बहुत छोटा है और काम बहुत ज्यादा | कुछ करना है तो दिन का एक-एक पल कामों में डूबा दो |एक क्षण भी बर्बाद मत होने दो | जिस हिसाब से घड़ी की सुई काम करती है वैसे ही हमें काम करना होगा | चाहे कोई भी मौसम हो हमेशा चलना होगा और अपना कर्म इमानदारी से करना होगा |
अच्छा आइये एक छोटा सा calculation करके देखते है, की हमारे पास कितना Time बचा है यदि हम अपना जीवन 100 वर्ष मान लेते है तब की condition में 
जीवन के कुल दिन= 3600
गुजर गए दिन =    .....................
( आपकी उम्र X 365)
(-)शेष बचे दिन = ..........................  
  •   [“कैलेण्डर से धोखा न खाए| सालभर में केवल उतने ही दिन होते है , जितना आप उपयोग करते है” ]


दोस्तों यदि आपने ये calculation कर ली | तो निश्चित रूप से आपको समझ में आ गया होगा की आज तक आपने  अपने जीवन के कितने कीमती समय गंवा दिए है | अभी भी जाग जाओ मित्रो | और रात दिन एक करके मेहनत करो और फ़ालतू के कामो में अपना एक सेकंड भी बर्बाद मत होने दो | decision आपके हाथ में है |
अब Last और तीसरा सवाल:-
Qus. 3:- आपका समय कितना कीमती है ? :- 
          मित्रो एक पुरानी कहावत है, “समय ही धन है“ वैसे इस कहावत से आप कितना सहमत है ? मैं तो बिलकुल भी सहमत नही हूँ क्योकि- अगर समय धन होता तो आज सभी अमीर होते कोई गरीब नही होता और नोट बंदी पर कोई रोता भी नही | दोस्तों मेरे हिसाब से समय एक प्रकार का  indirect Money है, ना कि direct Money \ अगर हम समय का सही उपयोग करके समय को धन में convert नही करेंगे तो समय हमारे लिए सिर्फ समय ही रह जायगा और कहावत सिर्फ कहावत ही बनी रह जाएगी | शायद आपको नही पता की आपका समय कितना कीमती है, कोई बात नही दोस्तों आज मैं आपको एहसास दिलाऊँगा कि आपका समय कितना कीमती है ?
Time की कीमत निकालने का formula= आपके 1 घंटे की कीमत / किये गए काम
मान लीजिये आप महीने में 20,000 हजार रूपये कमाते है और इसके लिए महीने में 25 दिन 8 घंटे काम करते है यानी कुल मिलाकर महीने में 200 घंटे काम हो गये | इस condition में    20,000/200= 100
इसका मतलब आपके 1 घंटे की income 100 रूपये हो गयी | (यह सिर्फ एक उदाहरण है) इस उदाहरण के अनुसार  यदि आप रोज अपना 2 घंटा भी बर्बाद करते है तो आपको हर दिन 200 रूपए का नुक्सान हो रहा है | महीने में लगभग 6000 रूपये, और साल का लगभग 72000 हजार रूपये | दोस्तों यह calculationबहुत छोटा है लेकिन आपके जीवन में बहुत बड़ा मायने रख सकता है | आप दिन के जितने घंटे भी बर्बाद करते है उस हिसाब से अपने इनकम की बर्बादी को देख सकते है | मुझे लगता है इस formule को एक बार भी चेक कर लेंगे तो आपकी आँख खुल जायेगी | ( इसे आप “eye opening formule” का भी नाम दे सकते हो |  ) 

[अमीर बनाने का मतलब है पैसा होना ; बेहद अमीर होने का मतलब है Time होना ]

दोस्तों यहाँ तक तो हमने बात की, कि समय का हमारे जीवन में कितना importance है लेकिन हम Time की बर्बादी किस कदर करते जा रहे है ? लेकिन आप बिलकुल भी परेशांना ना हो, हम आपको बताएँगे की आप अपने जीवन का एक-एक पल कैसे उपयोग करें और जीवन में सफलता पाए \ आगे हम आपको  समय के सर्वश्रेष्ट उपयोग के ऐसे 10 तरीके बताएँगे जो आपके जीवन को बदल कर रख देगा |

1:- समय की Log book रखें:- 

           दोस्तों जिस तरह आप पैसे का बजट बनाते है | उसी तरह आपको समय का भी बजट बनाना चाहिए | जैसे पैसे का बजट बनाने के लिए आपको हिसाब लगाना पड़ता है, कि आपका पैसा कहाँ खर्च हो रहा है, और कितना खर्च हो रहा है, और क्यों ? समय के मामले में भी हमे यही निति अपनानी पड़ेगी |
[ “जो लोग अपने समय का सबसे बुरा उपयोग करते है, वहीसबसे पहले इसकी कमी का रोना रोते है”
एक diary ले, और एक सप्ताह तक एक-एक मिनट का हिसाब रखे आपको अपने आप समझ आ जाएगा कि आप का Time किस काम में कितना expend हो रहा है | Diary का ये काम हर ड्राईवर करते है | जिसमे वो लिखते है कि गाडी कितने किलोमीटर और कहाँ से कहाँ तक चली | इसी को Log book  कहते है | समय की Log book में आप जितना बारीक हिसाब रखेंगे, आपको उतना ही फायदा होगा | log book में हर मिनट का हिसाब लिखे जैसे =
  •  सुबह 6- 6.30 =   उठना, चाय पीना, नित्य कर्म आदि
  • सुबह 6.30- 7.30 =  अखबार पढ़ना, T.V.पर न्यूज़ देखना  
  • सुबह 7.30-9.00 नहाना,पूजा करना ,नाश्ता और तैयार होना
  • सुबह 9.00-शाम 6.00 = ऑफिस या जो भी काम करते है

          इस तरह से रात में सोने तक का टाइम टेबल बना सकते है as par your convenient जो आपको प्रगति के पथ की तरफ ले जाय | इस Logbook को एक सप्ताह तक बारीकी से follow करें | जिससे आपको समझ आ जाएगा की real में आपका कितना टाइम Productive है और कितना टाइम  internet, whatsapp aur facebook या किसी  अन्य social site  और mobile पर  west हो रहा है | दोस्तों वैसे इंसान मूलतः आलसी होता है | इसलिए हो सकता है की आप इस काम को करने से बचने की कोशिश करें लेकिन मेरे दोस्तों ऐसा हरगिज मत करना | क्योकि Log book आपके समय खर्च करने का X-Ray है | ठीक वैसे ही जब हमारे शारीर में कोई Problem होती है तो डॉक्टर सटीक बिमारी का पता लगाने के लिए Medical Test और X-Ray करवाते है | इसी तरह टाइम के सटीक इस्तेमाल के लिए log book बहुत जरुरी है |

    [ “दुनिया में सिर्फ एक ऐसी चीज है , जिसका recycle नही किया जा सकता |” ]

2:- सुबह जल्दी उठे:- 

          जो जल्दी सोता है और जल्दी उठता है, उसके पास health, पैसा  और बुध्धि तीनो रहता है | मुझे जहाँ तक लगता है इस कहावत को इस युग में जितना नजरंदाज किया जा रहा है, उतना किसी और कहावत को नही | दोस्तों रात में देर तक जागना बहुत अच्छी बात नही है| मुझे ये बात समझ नही आती की लोग रात को 2 बजे तक जागते है और सुबह 9 बजे तक सोते है | आखिर ऐसा क्यों करते है ? 
      [यदि आपका पडोसी जल्दी उठता है,तो आप उससे भी जल्दी उठे ]

दोस्तों सुबह देर से उठने के बाद आपके पास ऑफिस का काम करने के लिए टाइम तो रहता है लेकिन अपने लिए एक मिनट का भी टाइम नही मिल पाता | दोस्तों जो काम आप देर रात करते हो अगर वही काम आप सुबह चार बजे उठ कर करो तो काम की speed भी तेज होगी और दिमाग भी तरोताजा रहेगा | क्योकि सुबह चार बजे से सात बजे तक न मोबाइल का Tension होता है,Whatsapp, facebook या किसी के आने जाने की और घर पर बच्चे भी देर में सो कर उठते है | इसका मतलब काम में किसी भी तरह का कोई भी disturbance नही | short में कहे तो सुबह के एक घंटे में जितना काम आप कर सकते है, उतना दिन के तीन घंटे में भी नही कर सकते |

3:- पैरेटो के 20/80 का नियम:-  
          पैरेटो का नियम समय के उपयोग के लिए बहुत important है | यदि इस नियम को समझ गए तो आप समय का बहुत ही अच्छा उपयोग कर सकते है | पैरेटो के अनुसार, “आपकी 20% प्रार्थमिकता आपको 80% result देती है “ बशर्तें आप अपनी 20% प्रार्थमिकताओ पर अपना समय, enrgy और धन लगाए | यानी हमारे काम का 80% result 20% time में मिलते है | इसका अर्थ         

      [ “व्यस्त होना ही काफी नही है; व्यस्त तो चीटिया भी रहती है |” ]

यह हुआ कि हमारा 80% समय सिर्फ 20% result हासिल करने में बारबाद हो जाता है | यदि हम अपने समय का सही सदुपयोग करना चाहते है तो यह जरुरी है कि हम उस 20% टाइम का पता लगाए जिससे हमें 80% result मिलते है | और उस 20 % समय को और Productive बनाए | इसके साथ-साथ हमें उस 80% टाइम का भी पता लगाना है जिसमे हमारा समय बर्बाद होता है | और उस समय को बर्बाद होने से बचाने की कोशिश करना है |
4:- पार्किन्सन के नियम को जाने:-  
दोस्तों समय के उपयोग के लिए पार्किन्सन के नियम को भी जानना बहुत जरुरी है | पार्किन्सन के नियम के अनुसार,- “काम उतना ही फ़ैल जाता है, जितना इसके लिए समय निर्धारित किया जाता है |” इसका अर्थ यह है कि हमारे पास जितना काम होता है हमारा समय उसी के अनुरूप फैलता या

[“बुरी खबर यह है कि समय उड़ता है| अच्छी खबर यह है कि आप इसके पायलट है|” ]

सिकुड़ता है |यदि हम कम समय में ज्यादा काम करने का प्लान बनाये तो ज्यादा काम भी उसी कम समय में पूरा हो जायगा | अगर हम ज्यादा समय में कम काम करने का प्लान बनाए तो कम काम भी उस ज्यादा समय में ही पूरा हो पायेगा | हमारा Target जितना बड़ा होगा, achievement भी उतनी ही बड़ी होगी |यहाँ मैं One Day match का example देना चाहूँगा | जब दूसरी team पहले टीम के टारगेट का पीछा करती है तो इस बात से कोई फर्क नही पड़ता की 50 ओवर में कितने रनों का लक्ष्य है | आमतौर  पर लास्ट के 4- 5 ओवरों में ही Target को पूरा किया जाता है | चाहे लक्ष्य छोटा हो या बड़ा | इसका एक और उदाहरण मैं देना चाहुगा- जब हम कभी Holiday मनाने कही बाहर जाते है तो उससे एक-दो सप्ताह पहले घर या ऑफिस का काम ताबड़तोड़ तरीके से पूरा करने में लग जाते है | लेकिन जिस दिन हमे छुट्टी के लिए निकलना होता है उसके 3 से 4 दिन पहले हम उस सप्ताह से भी 2-3 गुना ज्यादा speed से काम निपटा कर छुट्टियां मनाने चले जाते है | यह इसलिए जल्दी हो जाता है क्योकि हमें हमारा लक्ष्य सामने दिखाई देता है और समय सीमा भी निश्चित रहती है |

5:- Mobile & Social sites का कम उपयोग करें:- 

               आजकल हमलोग Mobile से कितने सारे काम करते है | आमतौर पर Game , Chatting, Facebook, selfy, internet banking etc. एक छोटे से mobile से भी दुनिया हमारी मुट्ठी में है |लेकिन ज़रा ठहरे ! ज़रा सोंचे कि कुछ साल पहले Mobile नही था तो क्या अपना काम नही चल रहा था | Mobile युग में कदम रखते ही हमारा कीमती समय निरर्थक चीजो में बर्बाद हो जाता है | आज के युवा ज्यादातर टाइम Mobile पर गाना सुनने, chatting , और facebook में ही खोये रहते है जिससे उनका समय बर्बाद हो रहा है | और तो और mobile के हम इतने आदि हो गए है कि हर 5 मिनट में अपना मोबाइल चेक करते है कही कोई sms, whatsapp sms  या facebook update तो नही आया है | दोस्तों मोबाइल हमारे समय के सबसे बड़े दुश्मनों में से एक है | इसलिए हमे कोशिश करनी चाहिए कि मोबाइल से दुरी बना कर रखे और हर 5-10 मिनट में update चेक करने के वजाय आधा घटा फिर एक घंटा फिर दो घंटा इस तरह करके हम Mobile से दुरी बनाने की कोशिश करते रहे  | 

6:- T.V. से रहे सावधान :-
              दोस्तों जहां तक मुझे लगता है कि T.V. के कारण जितना समय आज बरबाद हो रहा है उतना समय बर्बादी का कोई दूसरा कारण नही है | वैसे facebook भी इस श्रेणी में बहुत तेजी से आगे बड रहा है | टी.वी. के कई दुष्प्रभाव है, लेकिन हम यहाँ सिर्फ समय की बर्बादी के बारे बात कर रहे है |

ज़रा गौर से सोंचे दोस्तों यदि हम T.V.. नही देखे तो क्या आफत आ जाएगी \ अक्सर हम ये सोच कर बैठते है की सिर्फ आधे घंटे टी.वी. देखेंगे, लेकिन वो आधा घंटा कब दो घंटे में बदल जाता हमें पता ही नही चलता | Example- अगर न्यूज़ में यह बताया जाता है की विराट कोहली भारत के कप्तान बनाए गये | यहाँ तक तो ठीक है, लेकिन उनको क्यों चुना गया, कैसे चुना गया, इसकी विस्तृत जानकारी लेकर आप या हम क्या कर लेंगे | अगर कुछ करेंगे तो अपने समय की बर्बादी | हमारे प्रधान मंत्री जी ने 500 और 1000 के नोट बंद कर दिया | लेकिन लोग यह जानने के लिए परेशान है और टी.वी. से चिपके हुए है की कौन से A.T.M. से कितने का नोट निकल रहा है | अरे भाई आपको रूपये मिल गए ना, फिर आप अपना टाइम वेस्ट क्यों कर रहे हो ? 

7:-सापेक्षता के नियम को समझे:-
              यह नियम Time के संदर्भ में बहुत ही important है |  इस नियम के अनुसार समय वही रहता है, बस हमारा नजरिया बदल जाता है |”   आपने प्राय: देखा होगा की बच्चे जब कोई गेम खेलते है तो उन्हें टाइम का पता ही नही चलता, और न ही उन्हें भूख प्यास लगती है |  दूसरी ओर जब बच्चे पढ़ने बैठते है तो 15 मिनट में ही उन्हें ऐसा लगने लगता है कि बहुत समय हो गया है और 15 मिनट में ही वो अनेको excuse बनाने लगते है | अपना मनपसंद काम करते हुए टाइम का एहसास ही नही होता है | इसी को सापेक्षता का नियम कहते है | दोस्तों इस नियम को ध्यान में रखते हुए अपने काम को दिलचस्प बनाने के तरीके खोजे |ताकि काम को अच्छे तरीके से किया जा सके | आप अपने हर काम को interesting बना कर करने की कोशिश करें | जिससे कम समय में ही अच्छा result आये |

8:- न्यूटन के गति के पहले नियम का लाभ ले :-

                न्यूटन के गति का पहला नियम के अनुसार “जो चीज जिस अवस्था में है वो उसी अवस्था में बनी रहती है जब तक की उस पर कोई बहरी बल का न लगाया जाय |” दोस्तों यह नियम सिर्फ वस्तुओं पर ही नही बल्कि इंसानों पर भी लागू होता है | आप जिस अवस्था में है उसी अवस्था में बने रहेंगे जब तक कि आप पर कोई बहरी बल काम नही करता है | इंसानों में यह बाहरी बल कहाँ से आता है, या तो किसी के दबाव से या self motivation और अनुशासन से | अपने ऊपर बाहरी बल के लिए आर्थिक लक्ष्य बनाए जो की आपको काम करने के लिए हमेशा प्रेरित करता रहेगा | आप हर रोज सुबह उठते ही अपने आपको Motivate करिए ताकि आपका Motivation और आपका dream आपको काम करने के लिए बहरी बल के रूप में काम करें |

9:- Remote की तरह काम करें:- 
            बेहतरीन लक्ष्य और solid plan के बावजूद भी आप असफल हो सकते है | अगर आप उस पर अमल नही करते है तो | आपका काम ही वह magnetic तत्व है जो आपको permanent success दिला सकता है | सब जानते है कि बिना मेहनत किये हम सफल नही हो सकते , इसके बावजूद आश्चर्यजनक  बात ये है कि हम मेहनत से जी चुराते है | और काम को टालते रहते है | Mood न होने का बहाना बनाते है | इसके लिए मैं specially आपको एक सलाह देना चाहूँगा, जब भी किसी काम की शुरुआत करे तो mood के हिसाब से काम ना करे बल्कि अपने लक्ष्य के हिसाब से काम करें | जैसे Remote, बटन दबाते ही काम करता है, वैसे Quick काम करे, काम के लिए Mood न बनाए सिर्फ काम करें | इससे आपके Time की काफी बचत भी होगी |

10:- Deadline तय करें :- 

              Dead line means आखिरी समय सीमा | दरअसल पुराने जमाने में किसी जेल के चारों ओर खीची उस लाइन को कहा जाता था, जिसको cross करने पर कैदियों को गोली मार दी जाती थी | लेकिन आजकल की डेडलाइन पार करने पर आपकी जान तो नही जाती, पर आप अपने जीवन में सफलता से हजारों कदम पीछे हटते जाते है | किसी काम की dead line set करने के बाद काम की शुरुआत में थोड़ी दिक्कत आ सकती है, लेकिन जैसे-जैसे आप अपनी deadline के करीब पहुचते जायेंगे वैसे-वैसे आप अपनी मंजील के करीब होते चले जायेंगे |इसके साथ ही deadline होने की वजह से हम काम के लिए टाल-मटोल भी नही करते जिससे हमारा Maximum time का सदुपयोग हो जाता है |

NOTE:- दोस्तों मुझे पूरा यकीन है कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपके जीवन का एक-एक सेकंड use full होगा | जिसमे हमारा ये लेख आपके लिए काफी help full होगा | यदि आपको यह article पसंद आये, तो अपने चाहने वालो को भी शेयर करे | comment Box में comment जरुर करें |  और भी बहुत सारी motivation Hindi story, Real success story, Health Tips पढ़ने के लिए visit करे www.jeetapki.com |  आप जीतआपकी.कॉम (jeetApki.com) को  direct Google से भी search कर सकते है |  
      

COMMENTS

BLOGGER: 3
Loading...
Name

A real story child care Festival Health Hindi story Hindi kahani Hindi short story Hindi Story Holi inspirational hindi story Inspiring Biography inspiring Hindi story inspiring story motivation Motivational story new year Personal Development Quotes Self Help selp help Something Different Success Success story success सफलता Time Management चाइल्ड केयर त्यौहार सफलता सेहत स्वास्थ्य हिंदी कहानी
false
ltr
item
जीत आपकी: Top 10 Useful Tips for Time Management in hindi.
Top 10 Useful Tips for Time Management in hindi.
https://3.bp.blogspot.com/-WhtXghiTyFs/WHMX2_6tn6I/AAAAAAAAAR0/DThRVEVhX40Hh0iSlsNc4pHXEK4wUcLTACLcB/s320/time-management22.jpg
https://3.bp.blogspot.com/-WhtXghiTyFs/WHMX2_6tn6I/AAAAAAAAAR0/DThRVEVhX40Hh0iSlsNc4pHXEK4wUcLTACLcB/s72-c/time-management22.jpg
जीत आपकी
http://www.jeetapki.com/2017/01/top-10-useful-tips-for-time-management-in-hindi.html
http://www.jeetapki.com/
http://www.jeetapki.com/
http://www.jeetapki.com/2017/01/top-10-useful-tips-for-time-management-in-hindi.html
true
1067437376031974602
UTF-8
Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS CONTENT IS PREMIUM Please share to unlock Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy